भगवान श्री राम की जन्मभूमि अयोध्या में बुधवार 5 अगस्त को भूमि पूजन के साथ शुरु होने जा रहे भव्य मंदिर निर्माण को लेकर पूरा भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व बहुत उत्साहित है, यह विचार विश्‍व हिन्दू संघ व शिव सेना (अखंड भारत) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय मेहता ने आज पत्रकारों से बात करते हुए प्रकट किए। उन्होंने कहा कि वह पल रोमांचक होगा जब 500 सालों के संघर्ष के बाद मंदिर निर्माण का काम शुरु होगा। उन्होंने कुछ लोगों द्वारा अभी भी मंदिर निर्माण पर राजनीति करने वालों की आलोचना करते हुए कहा कि इस पावन अवसर पर किसी तरह की राजनीति नहीं होनी चाहिए। भगवान राम किसी धर्म विशेष के नहीं बल्कि पूरी मानवता के लिए एक उदाहरण हैं। उनका संपूर्ण जीवन हमें मर्यादा की शिक्षा देता है जिसे किसी भी पूजा पद्धति को मानने वाला नकार नहीं सकता। इस अवसर पर राष्ट्रीय महासचिव अनिल गोयल ने कहा कि यह अत्यंत शुभ घड़ी है! मेरा मन तो भव्य राम मंदिर की कल्पना करके ही भाव विह्वल हुआ जा रहा है! श्री राम जन्म भूमि के लिये जिन्होंने भी संघर्ष किया और जिन्होंने अपने प्राणों की आहूति दी उन सभी पुण्य आत्माओं को अब शांति मिलेगी क्योंकि उनका संघर्ष सफल हुआ है। उन्होंने 5 अगस्त की रात सभी से घरों पर दीपमाला करने का आह्वान भी किया साथ ही कहा कि विश्व हिन्दू संघ व शिवसेना (अखंड भारत) का हर सदस्य पांच अगस्त की रात को अपने घरों में दीपमाला करके प्रभु राम से प्रार्थना करेगा कि भारत सहित पूरे विश्व को कोरोना आपदा से मुक्ति मिले।