(अजय कोछड़)

शिव सेना (अखंड भारत) ने मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष साजिद रशिदी के उस ब्यान पर सख्त आपत्ति जताई है जिसमें उसने राम मंदिर को तोड़ कर दोबारा वहां मस्जिद बनाने की बात की है। प्रेस के नाम जारी अपने ब्यान में शिव सेना (अखंड भारत)के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय मेहता ने कहा कि इस तरह के भड़काऊ ब्यान देने वाले किसी भी व्यक्ति को आजाद नहीं छोड़ा जा सकता, इसलिए वह केन्द्र सरकार से मांग करते हैं कि इस साजिद रशीद को तुरंत गिरफ्तार कर के सख्त से सख्त सजा दी जाए ताकि भविष्य में कोई भी इस तरह की जहरीली जुबान का प्रयोग न कर सके। शिव सेना (अखंड भारत) के राष्ट्रीय महासचिव अनिल गोयल ने कहा कि साजिद रशीद का ब्यान केवल भड़काऊ ही नहीं है बल्कि यह सर्वोच्च न्यायालय की भी अवमानना है। गोयल ने सरकार से मांग की है कि इसके विरुद्ध जल्द से जल्द न्यायालय की अवमानना और देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करके सख्त कार्रवाई की जाए अन्यथा शिव सेना को संघर्ष का रास्ता अपनाना पड़ेगा और यदि अब किसी ने राम मंदिर की एक ईंट भी उखाड़ने की कोशिश की तो देश में से मस्जिदों का नामोनिशान मिट जाएगा।