* केंद्र सरकार की जनविरोधी नितियों के चलते संसद से लेकर सडक़ तक तनाव : पांडे,

———————
लुधियाना:21सितम्बर 2020
(हेमराज,नेरश कुमार)
केंद्र सरकार की तरफ से पारित किसान विरोधी बिलों के विरोध में कांग्रेसजनों ने विधायक राकेश पांडे के नेतृत्व में स्थानीय माता रानी चौंक में रोष प्रर्दशन किया। महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष किसान विरोधी बिलों के विरोध में एकित्रत हुए जमसमूह को संबोधित करते हुए विधायक राकेश पांडे ने कहा कि केंद्र सरकार की जन विरोधी नितियों के चलते देश की सीमा और संसद से लेकर सडक़ों पर तनाव की स्थिति देखने को मिल रही है। देश की सीमाओं पर जवान शहीद हो रहे हैं वहीं देश का अन्नदाता किसान केंद्र सरकार की किसान विरोधी नितियों के खिलाफ सडक़ों पर संघ्र्ष करने को मजबूर हो रहा है। तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री जी की तरफ से जय जवान-जय किसान के नारे का जिक्र करते हुए कहा कि शास्त्री जी ने उस समय की परिस्थियों को देखते हुए देश की सीमाओं की रक्षा के लिए सैनिको व अनाज की कमी को पूरा करने के लिए किसानों को प्रोत्साहित कर जवान व किसान की पीठ थपथपाई। परिणाम स्वरुप देश के किसान ने अनाज के मामले में आत्मनिर्भता की तरफ कदम बढ़ा कर देश के करोड़ों लोगो को भर पेट भोजन उपलब्ध करवाया। इसके विपरित मौजूदा भाजपा सरकार किसान हितों के आड़ में किसान विरधी कानून बना कर किसान हितों को ही कारोबारियो के हाथों गिरवी रख रही है। हरसिमरत कौर बादल के मंत्री पद से त्यागपत्र को नौंटकी बताते हुए उन्होने कहा कि कैबिनट की बैठक में किसान विरोधी बिलों पर हस्ताक्षक करने वाला अकाली दल खासकर बादल परिवार अब किसान विरोधी कानून पारित होने के बाद किसान हितैषी होने के घडिय़ासी आंसू बहाकर वोट बैंक बचाने का प्रयास कर रहा है। इस अवसर पर