* मोदी सरकार को भुगतना होगा किसानों से बेरुखी का खामियाजा
फगवाड़ा (डॉ रमन ) पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव मनीष भारद्वाज ने कहा कि मोदी सरकार के कृषि बिलों को लेकर पंजाब में किसानों के भारी विरोध के बीच मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह द्वारा सोमवार को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाना प्रशंसनीय कदम है। मनीष भारद्वाज ने पूरे विश्वास से साथ कहा कि यह विशेष सत्र कृषि बिलों से आहत किसानों के दुख पर मरहम का काम करेगा। कैप्टन सरकार तथा पंजाब कांग्रेस किसान हितों को लेकर पूरी तरह गंभीर हैं। किसानों से कोई ज्यादती सहन नहीं की जाएगी। सडक़ों तथा रेलवे लाईनों पर धरने लगा कर बैठे किसानों की व्यथा को मोदी सरकार समझना नहीं चाहती है। किसानों के प्रति केन्द्र की बेरुखी का खामियाजा मोदी सरकार को भुगतना पड़ेगा। केन्द्र के व्यवाहर को लेकर पंजाब भाजपा के प्रति भी किसानों के मन में भारी आक्रोश है। भाजपा अति उत्साह में 2022 का विधानसभा चुनाव अकेले लडऩे की तैयारी तो कर रही है लेकिन किसान मसलों को लेकर लोगों का मौजूदा आक्रोश इस बात का गवाह है कि पंजाब की हर विधानसभा सीट पर भाजपा उम्मीदवारों की जमानतें जब्त होकर रहेंगी। मनीष भारद्वाज ने याद दिलाया कि कैप्टन सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल के दौरान वर्ष 2004 में भी जब पंजाब के पानियों पर संकट आया था तो विधानसभा में पंजाब टर्मिनेशन आफ एग्रिमेंट एक्ट 2004 पारित करके पंजाब के हित की रक्षा की थी। अब जबकि किसानों तथा प्रदेश की कृषि पर केन्द्र ने संकट खड़ा किया है तब भी कैप्टन सरकार साहसिक निर्णय लेने से गुरेज नहीं करेगी।