* अति पिछड़ा वर्ग को नौकरी में आरक्षण देने के निर्णय को सराहा
फगवाड़ा (डॉ रमन ) सैंट्रल वाल्मीकि सभा (इंडिया) तथा कार्पोरेशन इम्प्लाईज यूनियन ने कैप्टन अमरेन्द्र सिंह सरकार द्वारा प्रदेश में पंजाब शैड्यूल्ड कास्ट एंड बैकवर्ड क्लासिस रिजर्वेशन इन सर्विस एक्ट 2006 को लागू किये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि वाल्मीकि समाज के सम्मानिय नेता एवं सफाई कर्मचारी आयोग के चेयरमैन श्री गेजा राम वाल्मीकि के नेतृत्व में वाल्मीकि भाईचारा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह को फ$खर-ए-कौम अवार्ड देकर सम्मानित करेगा। आज यहां वार्तालाप में सैंट्रल वाल्मीकि सभा के राष्ट्रीय प्रधान सतीश सल्होत्रा, वाईस प्रधान धर्मवीर सेठी, सतपाल मट्टू तथा कार्पोरेशन इम्प्लाइज यूनियन के चेयरमैन तुलसी राम खोसला ने बताया कि यह कानून कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने अपने पिछले कार्यकाल के दौरान वर्ष 2006 में बनाया था जिसको लागू करने में कई कानूनी अड़चने आई लेकिन कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने हर मुश्किल का बहादुरी से सामना करके अनुसूचित जातियों का पक्ष अदालत के सामने रखा। अंतत: 20 अगस्त 2020 को अदालत ने उनके पक्ष में निर्णय दिया जिसके बाद कैप्टन सरकार ने अविलंब इस एक्ट को लागू करने का ऐलान किया है जिससे पंजाब इस एक्ट को लागू करने वाला प्रथम राज्य बन गया है। सतीश सल्होत्रा ने केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार से पुरजोर मांग कर कहा कि संसद में कानून बना कर इसे पूरे देश में लागू किया जाए ताकि समाज के अति पिछड़ा वर्ग वाल्मीकि भाईचारे को समाजिक न्याय मिल सके। इस अवसर पर सभा के महासचिव मंगल नाथ बाली व कानूनी सलाहकार एडवोकेट राहुल आदीया भी उपस्थित थे।