(अजय कोछड़)

फगवाड़ा के नजदीक पड़ते गांव रणधीर गढ़ की एक महिला ने फगवाड़ा में एक फाइनेस कंपनी के मालिक वा करिंदो के खिलाफ डी एस पी फगवाड़ा को एक लिखती शिकायत दी। शिकायत कर्ता महिला आशा रानी ने मीडिया को बताया कि कुछ समय पहले फाईनासर कुलविंदर सिंह किंदा बासी पलाही गेट के पास भैंस खरीदने के लिए कर्ज लेने सम्बन्धी गई थी, तो महिला को कुलविंदर ने फगबाड़ा पालाही रोड़
पर फाइनेस कंपनी में ले गया जहां पर फाइनेसर के कर्मियों द्वारा उसके दस्तावेज लेकर उसका सिंबल चेक करने संबंधी उससे दस्ता बेज लिए और उससे लोन पास करने संबंधी चेक लेकर कुछ दस्तावेजों पर उसके दस्खत कर भी करवा लिए।और पैसे देने के लिए कुछ दिनों का समय दे दिया। महिला ने जानकारी देते हुए कहा कि उसे पैसे नहीं मिले जब पैसे ना मिलने पर वह कुछ दिन के बाद कुलविंदर किदां और फिनेसर के दफ्तर भी गई वहा उसे दिलासा देकर फिर कुछ दिनों का समय दे दिया लेकिन हैरानी तब हुई जब महिला के फोन पर स्कटरी खरीदने संबंधी आई डी एफ सी बैंक से मैसेज आया तो वह परेशान होकर फिर फाइनेस कंपनी के दफ्तर पहुंची तो वहां पर उसे कहा कि उन्हें इस के बारे में कोई जानकारी नहीं आप इसके बारे में बैंक और ऐकटिवा स्कूटी एजंसी से पता करे। जब कि मीडिया कर्मियों ने तत्काल एजंसी के कर्मी अमनदीप से बात की तो उसने ये कबूल किया कि वे महिला को नहीं जानते और पी बी 09 AH 9482 एक्टिवा स्कूटी जो की फाइनेस कंपनी के कर्मियों द्वारा ही एजंसी से ली गई है। और उनके द्वारा ही एक्टिवा के दस्तावेज भरे गए है। उक्त मामले संबंधी जब फाइनेस कंपनी के मालिक से पूछा गया तो उनका कहना था कि वे अपना पक्ष मीडिया को नहीं वे पुलिस अधिकारियों को देंगे ।