Home Hindi-News पुलिस सख्ती नहीं करेगी तो बेअसर रहेगा कोविड लॉकडाऊन : संजीव बुग्गा/रामपाल...

पुलिस सख्ती नहीं करेगी तो बेअसर रहेगा कोविड लॉकडाऊन : संजीव बुग्गा/रामपाल उप्पल

* एस.एच.ओ. नवदीप सिंह के निलंबन से गिरेगा पुलिस का मनोबल
फगवाड़ा ( डॉ रमन ) शहर में बुधवार को थाना सिटी प्रभारी द्वारा एक सब्जी विक्रेता के टोकरे को लात मारने का चर्चित वीडियो वायरल होने के बाद डीजीपी पंजाब द्वारा तुरंत प्रभाव से थाना प्रभारी नवदीप सिंह के निलंबन के अलावा उनके विरुद्ध विभागीय जांच का आदेश भले ही कुछ लोगों को जायज लगा हो लेकिन ब्लाक कांग्रेस फगवाड़ा शहरी के प्रधान संजीव बुग्गा पार्षद का मानना है कि कोविड-19 की भयावह स्थिति को देखते हुए पुलिस के पास सख्ती के अलावा कोई दूसरा चारा नहीं है क्योंकि कैप्टन सरकार द्वारा लागू मिन्नी लॉकडाऊन का लोगों ने एक प्रकार से मजाक बना रखा है। शहर में सैंकड़ों लोग कोरोना से पीडि़त हैं। केन्द्र से न प्रयाप्त आक्सीजन मिल रही है और न ही वैक्सीन जिसे देखते हुए थोड़ी बहुत सख्ती करना गलत नहीं। लाकडाऊन को लेकर पुलिस अगर सख्ती करती है तो यह जनता की भलाई के लिए ही है। लोगों की जिन्दगी से मुल्यवान कुछ भी नहीं है। संजीव बुग्गा के साथ मौजूद रहे पूर्व पार्षद रामपाल उप्पल एवं कैलाश शर्मा ने भी कहा कि नवदीप सिंह एक मेहनती, ईमानदार और कत्वर्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी हैं। उन्हें निलंबित रखने से पुलिस का मनोबल गिरेगा। यदि अफसरों पर इसी तरह गाज गिरती रही तो पुलिस अधिकारी अथवा कर्मचारी डरकर अपनी ड्यूटी नहीं कर पायेगा जिसका खामियाजा भी जनता को ही भुगतना होगा। उन्होंने फगवाड़ा वासियों से पुरजोर अपील कर कहा कि वे मिन्नी लाकडाऊन को गंभीरता से लें। कैप्टन सरकार ने जनता के हित में पूर्ण लाकडाऊन का फैसला नहीं लिया है। जिसकी कदर करते हुए बाजारों में भीड़ नहीं करनी चाहिए। जिन अति जरूरी दुकानों और कारोबारों को सरकार ने विशेष दिशा-निर्देशों सहित जिस निश्चित अवधि तक कामकाज की छूट दी है उसका पालन लोगों को जिम्मेवारी के साथ करना चाहिए। लोगों के सहयोग से ही कोविड-19 कोरोना संकट को दूर किया जा सकता है। उन्होंने डीजीपी पंजाब से भी निलंबित एस.एच.ओ. नवदीप सिंह को बहाल करने की अपील कर कहा कि एस.एच.ओ. का पक्ष भी विचारनीय है कि मंगलवार के दिन सराय रोड पर अनेकों सब्जी विक्रेताओं को कोरोना पाजिटिव पाये जाने के बाद बुधवार को जब उन्हें दोबारा उसी जगह कानून को ताक पर रखकर रेहडिय़ां आदि लगाने की सूचना मिली तो वे गुस्से में आपा खो बैठे जिसका उन्हें खेद है। संजीव बुग्गा ने विश्वास जताया कि एस.एच.ओ. नवदीप सिंह को शीघ्र बहाल किया जाएगा।