-वार्डबंदी सरकारी नियमों अनुसार,भाजपा के शासन की तरह से घर में बैठ कर नही की वार्डबंदी
फगवाड़ा (डॉ रमन ) निगम चुनावों से कांग्रेस नहीं भाजपा व उसके पूर्व मेयर घबरा रहे है,क्योंकि कुर्सी पर बैठ कर उन्होंने काम ही नहीं किया। कांग्रेस विधायक बलविंदर सिंह धालीवाल के नेतृत्व में निगम चुनावों में कांग्रेस धुँआधार जीत प्राप्त करेगी तथा हर हाल में मेयर कांग्रेस की ही बनेगा। उक्त विचारों का प्रक्टावा फगवाड़ा ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष संजीव बुगगा ने पूर्व मेयर अरुण खोसला के उस ब्यान पर प्रतिक्रिया देते कहे जिसमें उसने कहा था कि कांग्रेस पहले अपना मेयर का तो फाईनल कर दे। बुगगा ने कहा कि मेयर खोसला को अगर इतनी भी समझ नही कि पहले चुनाव होगा,फिर जीत तथा उसके बाद पार्टी योगय उम्मीदवार को देख कर मेयर घोषित करती है। इसलिए भाजपा ने अरुण खोसला को मेयर बना कर यह साबित कर दिया कि उनके पास योगय पार्षद ही नही था,जिसके लिए उसको कुर्सी पर बैठा दिया,जिसका परिणाम शहर व लोगो ने पांच साल भुगता।
बुगगा ने कहा कि मेयर पद पर रहते खोसला ने जो कुछ किया वो जनता के सामने है। लोगो खोसला को पर्चीयों वाला बाबा के नाम से जानते रहे है जो धार्मिक कार्यक्रमों की आड़ में लाखों की वसूली करता रहा है। मेयर रहते हुए उसने सबसे पहले मीडिया में कबूल किया था कि हां, उसने कारोबार के लिए सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किए रखा है। कौन है वो जिस ने ठेकेदार से कितने एसी लिए,यह जो पब्लिक है सब जानती है। किसी को बताने की अवश्यकता नही है। खोसला किसी बिजनसमैन के पास जाता था तो वो डर जाता था कि कहीं कोई पर्ची काट कर हाथ में न पकड़ा दे। बुगगा ने कहा जिस वार्डबंदी को लेकर खोसला तल्ख हो रहे है वो सरकारी नियमों के मुताबिक तथा महिलाओं को आरक्षण देने की नीति के तहत की गई है,जिसमें विधायक ,कमिशनर निगम यां किसी कांग्रेस नेता का कोई हाथ नही है। यह वार्डबंदी भाजपा के शासन काल की तरह घर में बैठ कर नहीं की गई है, जिसमें एक गली मेंं दो दो तीन तीन वार्ड, तथा एक वार्ड में पिछले दो दो तीन तीन वार्डो को घुसेड़ कर वार्ड बना दिए गए। लोग वार्डो में वोट ढूंढते रह गए। बुगगा ने कहा कि अगर भाजपा ने शहर में विकास सचमुच में करवाया है तो मेयर को क्या डर है किसी भी वार्ड में चुनाव लड़ ले। हमारे कांग्रेसी नेता गुरदीप दीपा ने तो उनको अपने वार्ड में भी चुनाव लडऩे का चैलिंज किया है। असल में डर कांग्रेस में नही भाजपा में है। भाजपा 117 विधान सभा सीटों पर चुनाव लडऩे की तैयारी कर रही है,उनका चैलिंज है कि भाजपा अपने पुराने मित्रों (अकालियों)से बिना फ्रैंडली मैच खेले फगवाड़ा ही जीत कर दिखा दें तो वो मान जाएगें। बुगगा ने कहा कि विधायक बलविंदर सिंह धालीवाल के नेतृत्व में चुनाव जीत कर जो भी मेयर फगवाड़ा के देंगे वो ईमानदार तथा योगय होगा जो मेयर की कुर्सी की शोभा बढ़ाएग तथा शहर के विकास की सोचेगा ना कि सिर्फ अपने विकास की। उन्होंने कहा कि खोसला इतनी क्षमता नही रखते कि वो कांग्रेस से मेयर के बारे में पुछे।