नरेश कद, कपूरथला

फगवाड़ा के विधायक एवं फगवाड़ा के एसडीएम की रिपोर्ट पाजीटिव आने के बाद अब कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा होने की संभावना है, जिसे लेकर स्वास्थ्य विभाग लगातार कोरोना के संदिग्धों की सैपलिंग करने में जुटा हुआ है। वहीं फगवाड़ा के विधायक एवं एसडीएम के संपर्क में आने वाले तीन लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद सरकारी विभागों में चिंता पाई जा रही है। जानकारी के अनुसार फगवाड़ा के विधायक के संपर्क में आने वालों में एक 30 वर्षीय नौजवान की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है, वहीं फगवाड़ा के एसडीएम कं सपर्क में आए डीसी आफिस में कार्यरत एक 34 वर्षीय एवं 48 वर्षीय व्यक्ति की भी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। वहीं भुलत्थ की 64 वर्षीय महिला जोकि जालंधर के निजी अस्पताल में अपना इलाज करवा रही थी, उसकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है।
इस संबंध में जानकारी देती हुई सिविल सर्जन डा. जसमीत कौर बावा ने बताया कि रविवार को 436 पैडिंग सैंपलों में 433 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है, वहीं 3 लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। उन्होंने बताया कि तीनों पाॅजीटिवों में फगवाड़ा के नाैजवान को उपचार के लिए जालंधर में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवाया गया है, वहीं कपूरथला के डीसी आफिस में तैनात कोरोना पॉजीटिवों को उपचार के लिए कपूरथला के आइसोलेशन वार्ड में लाया गया, जहां माहिर डाक्टरों की टीमों द्वारा उनका इलाज शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि रविवार को कुल 78 सैंपल लिए गए है, जिसमें से कपूरथला से 45 सैंपल लिए गए है, इसमें टिब्बा से 13, सुल्तानपुर लोधी से 8, पांछटा से 12 सैंपल लिए गए है। डा. बावा ने बताया कि लॉक डाउन के चलते कोरोना सैंपलों की गिनती 17498 तक पहुंच गई है, जिनमें नेगेटिव 15636 है, वहीं कोरोना पीड़ितों की गिनती 153 हो गई है। जबकि इनमें से 96 ठीक होकर अपने घरों को जा चुके है। जिनका इलाज जालंधर व कपूरथला के आइसोलेशन वार्ड में चल रहा है। डा. बावा ने लोगों से अपील की कि लोगों को कोरोना से बचाव के लिए भीड़ भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से गुरेज करना चाहिए और घर से तब ही बाहर निकले जब उन्हें कोई जरूरी काम है।