-चीन सीमा पर कड़ी कार्यवाही कर सबक सिखाए केंद्र सरकार-गुरदीप सैनी,रुपेश धीर
फगवाड़ा (डॉ रमन ) चायना के साथ हुई झड़प को चीन की शरारती दिमाग की उपज बताते शिव सेना (बाल ठाकरे) ने इस में शहीद हुए सैनिकों की लासानी शहादत को नमन करते हुए उन्हें मां भारती के सच्चे सपूत बताया है जिन्होंने मां भारती का कर्ज उतार कर एक उदाहरण प्रस्तुत किया।
शिव सेना के प्रदेश सचिव गुरदीप सैनी व जिला यूथ अध्यक्ष रुपेश धीर ने कहा कि देश की सीमा को अखंड रखने के लिए दी गई इस कुबार्नी को आने वाली पीढ़ीया हमेशा याद रखेंगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सैनिकों की शहादत का बदला लेने के लिए चीन के खिलाफ कड़ी कार्यवाही कर उनको करारा सबक सिखाए तांकि उसकी आने वाली पीढ़ीया भी याद रखे। उन्होंने कहा कि भाजपा सिर्फ खोखली वाहवाही व ब्लेम गेम की बजाए धरातल पर नकार आने वाली कार्यवाही करे। शिव सेना ने शहीद सैनिकों के परिवारों के साथ हमदर्दी का प्रक्टावा करते कहा कि देश का बच्चा बच्चा उनके साथ है,वेशक शहीद परिजनों की कमी पूरी नही की जा सकती पर उनकी शहादत इतिहास में एक सूर्य की भांति चमकती रहेगी। सेना नेताओं ने कहा कि मोदी साहिब ऐसे देश के दुश्मनों के भारत में बुला कर मेहमान निवाजी करने की बजाए, उनको सीमा पर लताड़ लगाई जाए, क्योंकि सच्चाई है कि ना तो लातों के भूत बातों से मानते है तथा न ही सांप को दूध पिलाने से वो डसना छोड़ेगा। उन्होंने कहा लोग तो चीनी समान चीनी मार्किट का बहिष्कार करे ही पर केंद्र सरकार भी चीन से आने वाले हर प्रकार के समान के इंपोर्ट पर प्रतिबंध लगाए। चीनी समान की बिक्री को कानून अपराध घोषित किया जाए। अगर सरकार ऐसा करती है तो शर्तीय इस दीवाली से पहले ही चीन का दीवाला निकल जाएगा।