(अनित कुमार दुबे)

करारी,कौशाम्बी। जिक्र करे तो जहां मोदी जी करोङो अरबो रुपये खर्च कर गांव गांव में सभा कर, स्वछता का मिशन चला रखे है । वहीं गाँव के प्रधान स्वछता मिशन का आया धन डकार कर मोदी जी के मिशन को खिलवाड़ में तबदील कर दिया है ।

उदाहरण के तौर पर करारी थाना क्षेत्र के छिमीरछा गांव को लिया जा सकता है । छिमीरछा गांव में जगह जगह गंदगी का अंबार लगा हुवा है । वहीं स्वच्छता सड़क नाली खड़ंजा आदि सरकारी योजनाओं का आया धन गांव के प्रधान और सेक्रेट्री डकार गए है । देखा जाए तो स्वछता आदि योजनाओं का आया सरकारी धन सिर्फ कागजों तक ही सीमित है। छिमीरछा गांव में जाये तो न सड़क न खड़ंजा न नाली में कोई भी सुधार नही है जिम्मेदार लाखों रुपये के नाम पर हेरा फेरी कर रखे है । यहाँ तक कि सड़क पूरी तरह तालाब बन चुकी है जिससे ग्रामीण व राहगीर लोगों को आने जाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है । जहां गांव की सड़क का आज तक कोई मर्रामत नही हो सका है । आखिर स्वछता आदि सरकारी योजनाओं का का आया धन से अगर सड़के खड़ंजा सही नही बना नाली आदि स्वच्छ नही है तो सरकारी योजनाओं का आया धन कहाँ चला गया ये जांच का विषय है, हालांकि ग्रामीणों ने मुख्य विकाश अधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराकर जिम्मेदारों के खिलाफ निष्पक्ष जांच कर उनके खिलाफ कार्यवाई कराने की मांग की है ।