-बुधवार को भी तीन की कोरोना से जान गई, 43 नए पाजिटिव केस आए
-सोशल डिस्टेंस का उल्लघन व मास्क ना पहनने से बढ़ रहे केस-सिवल सर्जन

फोटो नंबर-8,9,
नरेश कद, कपूरथला। केंद्र व राज्य सरकार की बार बार अपीलों के बावजूद आम लोगों की लापरवाही के चलते जिले में दिन-प्रतिदिन कोरोना पीड़ितों की संख्या और मौतों का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 15 दिनों दौरान जिले में कोरोना से 42 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 1447 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए है। बुधवार को भी तीन लोगों की कोरोना के कारण जान गई है जबकि 43 नए कोरोना पाजिटिव केस सामने आए है।

इसके बावजूद सोशल डिस्टेंस का बार बार उल्लघन हो रहा है और मास्क पहनने में भी भारी लापरवाही की जा रही है। इस वजह से कोरोना संक्रमित आगे से आगे फैल रहा है। उधर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेशों पर सेहत विभाग द्वारा जिले में बनाए गए आईसोलेशन वार्ड बंद कर दिए गए है। कोरोना पीड़ित की ज्यादा हालत खराब होने पर ही दाखिल किया जाता है। कोरोना पीड़ित की रिपोर्ट पाज़िटिव आने पर उसे कोरोना किट देकर घर में ही रहकर अपना इलाज करने की हिदायत दी जाती है लेकिन जिनका जालंधर के निजी अस्पतालों में इलाज हो रहा है, उनमें अधिकाश को अपनी जान से हाथ धोने पड़ रहे है। सूत्रों की माने तो कपूरथला के लगभग 500 के करीब कोरोना पीड़ित जालंधर के अस्पतालों में अपना इलाज़ करवा रहे है। कोरोना से मरने वालों में ज्यादातर लोग जालंधर के प्राइवेट अस्पतालों में ही दाखिल है जिनकी इलाज़ दौरान मौत हुई है।
दूसरी तरफ लोगों की लापरवाही इतनी है कि लोग बिना मास्क, बिना सोशल डिस्टैंस तथा बिना सैनेटाईज़र के घूमते से कोई प्रहेज नही किया जा रहा । पुलिस को बिना मास्क के लोगों के कोरोना टैस्ट करवाने के आदेश मिले थे। पुलिस ने भी दो-तीन दिन ही बिना मास्क के लोगों को पकड़ कर उनके कोरोना टैस्ट करवाए। लेकिन उसके बाद पुलिस ने भी कार्रवाई बंद कर दी। इस दौरान अब फिर लोग बिना मास्क व सोशल डिस्टैंस के बाज़ारों में घूमते हुए नज़र आते है।

इस संबंधी सिवल सर्जन डा. सीमा ने बताया कि जिले में बुधवार को कोरोना से तीन महिलाओं की मौत हो गई, जिनमें 53 वर्षीय महिला निवासी ढिलवां की अमृतसर के जीएमसी, 48 वर्षीय महिला निवासी गांव भंडाल बेट की जालंधर के प्राइवेट अस्पताल तथा 31 वर्षीय महिला निवासी फगवाड़ा की जीएमसी अमृतसर के अस्पताल में इलाज़ दौरान मौत हो गई। इससे अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 295 तक पहुंच गई है। वहीं बुधवार को 43 कोरोना पीड़ित आए। जिससे अब तक कोरोना पीड़ितों की कुल संख्या 10449 तक पहुंच गई है।
इस समय 799 केस एक्टिव हैं, जो कि अपना इलाज़ घरों में रहकर व प्राइवेट अस्पतालों में करवा रहे है। कोरोना से अब तक 9291 मरीज़ ठीक हो चुके है। उधर बुधवार को मेडिकल कालेज अमृतसर से 830 सेंपलों की रिपोर्ट आई, जिनमें 711 नेगेटिव तथा 28 व बाकी 91 सैंपलों की रिपोर्ट नहीं आई। एंटीज़न पर किए गए टैस्टों में 6, टरुनैट पर किए गए टैस्टों में 00 तथा प्राइवेट लेबों पर किए गए टैस्टों में 9 कोरोना पीड़ित पाए गए। जिससे बुधवार को कुल 43 कोरोना पीड़ित पाए गए।

जिला ऐपीडीमोलोजिस्ट डा. राजीव भगत ने बताया कि बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की विभिन्न टीमों द्वारा जिले में 1251 लोगों की सैंपलिंग की गई जिसमें कपूरथला से 199, फगवाड़ा से 125, भुलत्थ से 50, सुल्तानपुर लोधी से 43, बेगोवाल से 120, ढिलवां से 165, काला संघिया से 117, फत्तूढींगा से 115, पांछटा से 204 व टिब्बा से 113 लोगों के सैंपल लिए गए। इनकी रिपोर्ट वीरवार शाम को आने की संभावना है।