नरेश कद, कपूरथला

कपूरथला जिले में कोरेाना का संकट दिनों दिन बढ़ता जा रहा है, लोक स्वास्थ्य विभाग व सरकार के बताए हुए नुक्तों से अवगत होने के बावजूद भी सोशल डिस्टेसिंग व मास्क नहीं डाल रहे व कोरोना बीमारी को लेकर गंभीर नजर नहीं आ रहे है। जिसके साथ दिनों दिन कोरोना पीड़ितों की गिनती बढ़ती जा रही है। इस संबंधी जानकारी देते हुए सिविल सर्जन डा. जसमीत कौर बावा ने बताया कि कपूरथला जिले में बुधवार को 212 कोरोना संदिग्ध सैंपलों की रिपोर्ट आई है, जिसमें 205 नेगेटिव व 7 पॉजीटिव आए है। जिनमें 64 वर्षीय बुजुर्ग रायपुर अराईयां जिसका टेस्ट भुलत्थ के अस्पताल में लजिया गया था, 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला जिसका सैंपल जौहल अस्पताल जालंधर में हुआ था, उसकी जालंधर के अस्पताल में मौत हो गई है, 29 वर्षीय नौजवान जोकि 2 वर्ष से अपनी फैमिली के साथ लुधियाना में रह रहा था, उसकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। 50 वर्षीय महिला जोकि जालंधर में किसी निजी अस्ताल में दाखिल था, नंगल लुभाणा की रहने वाली है, जिसकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। 43 वर्षीय व्यक्ति वासी बेगोवाल जिसका टेस्ट जालंधर के निजी अस्पताल में हुआ, जोकि एक जालंधर के निजी बैंक में नौकरी करता था, उसकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। वहीं 55 वर्षीय महिला जोकि आरसीएफ में काम कर ती है, उसकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है। इसके अलावा 27 वर्षीय महिला ढिलवां जिसका टेस्ट कपूरथला के सिविल अस्पताल में हुआ था, उसकी रिपोर्ट भी पॉजीटिव आई है।
इस संबंध में जानकारी देते हुए डा. राजीव भगत ने बताया कि बुधवार को जिले भर में कोरोना के संदिग्ध 261 सैंपल लिए गए है। जिनमें कपूरथला के सिविल अस्पताल से 70 सैंपल लिए गए है। जिनमें 3 पुलिस कर्मचारी, 6 इंटरनेशनल ट्रेवल, 6 एनआरआई, 15 लोक बाहरी प्रदेशों बिहार व दिल्ली से आए हुए, 11 सैंपल कोरोना पीड़ितों के संपर्क में आने वालों के, 3 कैदी, 4 गर्भवती महिला, 5 खांसी, जुकाम, दमा, टीबी व 11 सैंपल ओपीडी में लिए गए है। इनसे अलावा फगवाड़ा से 52, पांछटा से 2, सुल्तानपुर लोधी से 46, आरसीएफ से 23, काला संघिया से 16, भुलत्थ से 12, बेगोवाल से 11, फत्तूढींगा से 11 व टिब्बा से 18 सैंपल लिए गए है। डा. राजीव भगत ने बताया कि ये सैंपल लेने के बाद उन्हें अमृतसर के मेडिकल कालेज में भेज दियागया है। जिनकी रिपोर्ट वीरवार शाम तक आने की संभावना है। उन्होंने बताया कि कपूरथला में लॉक डाउन दौरान अब तक 22081 कोरोना के संदिग्ध सैंपल लिए गए है। जिनमें 19232 नेगेटिव केस है, एक्टिव केस 174 है। जिनका इलाज सर्कुलर रोड पर बनाए गए आइसोलेशन वार्ड व पीटीयू में बनाए गए आइसोलेशन वार्ड में चल रहा है। 191 मरीज ठीक होकर घरों को चले गए है। उन्होंने बताया कि लोगों को घर से बाहर निकलते समय मुंह पर मास्क, हाथों पर सेनिटाइजर, बाजारों में एक दूसरे से सोशल डिस्टेसिंग जरूर बनाकर रखना चाहिए है, ताकि कोरोना बीमारी को जल्द से जल्द खत्म किया जा सके।